Make Top Rank Blog

शनिवार, अक्तूबर 10, 2009

बच्चो आज तुम्हे तीन प्रकार के आविष्कार बताता हूँ |

१) पहले वोह आविष्कार जिसके वारे मैं बस सोचा गया और हो गया अविष्कार |
इस श्रेणी मैं सबसे पहले नाम लूँगा यूनान के वैज्ञानिक, आर्कमेंडिस का,वोह नहाने के लिए टब मैं घुसे,और उनके घुसने के साथ पानी निकला और वोह बिना वस्त्र पहने, यूनान की सड़कों पर यूरेका,यूरेका कहते हुए भागने लगे, मतलब की मुझे मिल गया |
इससे ज्ञात हुआ, कोई भी द्रव, उतने ही आयतन का द्रव विस्थापित करता है, जो भी वस्तु उसमे डाली गयी है |

दूसरा नाम है न्यूटन का जिनके सर पर सेव गिरा तो वोह सोचने लगे सेव ऊपर क्यो नहीं गया,और नीचे क्यों गिरा
हो गया न्यूटन के पहला गुरुत्वआकर्षण के नियम का आविष्कार प्रतेक वस्तु, धरती के गुरत्व आकर्षण का आविष्कार |
इसी प्रकार उन्होंने चलती हुई और रुकी हुई वस्तुओं को देखा,तो हो गया न्यूटन के दूसरे नियम का आविष्कार जो वस्तु चलती है तो चलती रहती है,और जो वस्तु रुकी है रुकी रहती है |
और इसी प्रकार न्यूटन के तीसरे नियम का आविष्कार हुआ, प्रतेक वस्तु क्रिया करने पर पर्तिक्रिया करती है |
२) दूसरे प्रकार के वोह आविष्कार जो की सयोंग से हो गये |
पता है,बेनजिन के फार्मूले का रिंग कैसे बना,एक वेगानिक थे,उन्होंने बेनजीन का आविष्कार तो कर लिया और वोह उसका फार्मूला नहीं दे पा रहे थे , और वोह सो गए उन्होंने सपने मैं एक सांप को अपनी पूँछ मुँह मैं दवाए देखा तो उन्होंने बेनजीन के रिंग का आविष्कार कर लिया |
अब बताता हूँ दूरबीन का आविष्कार कैसे हुआ, एक चश्मेबनाने वाले एक लेंस के आगे दूसरा लेंस आ गया,और उनको दूर का गिरजाघर पास मैं दिखाई देने लगा हो गया दूरबीन का आविष्कार |

अब बताता हूँ एक्स रे का आविष्कार कैसे हुआ, एक वेगय्निक फिसिक्स का प्रयोग कर रहे थे, उनकी शरीर के अन्दर के भाग का दूर रखी प्लेट पर आ गई,
उनको उन किरणों का नाम कुछ नहीं सुझाई दिया बस उन किरणों का नाम उन्होंने, एक्स रे रख दिया |

३) अब बताता हूँ,कुछ पहले आविष्कार जिन पर दूसरे लोगो ने प्रतिबन्ध लगा दिए |

इस शेत्र मैं सबसे पहले नाम आता है,इन्सटीन का उन्होंने, न्यूटन के दूसरे नियम पर पर्तिबंध लगया,जो वस्तु चल रही है, वोह चलती रहेगी,या जो वस्तु रुकी हुई है,रुकी रहेगी जब तक इन पर बल ना लगाया
जाए
|

इन्सटीन ने ही, न्यूटन के तीसरे नियम,पर प्रतिबन्ध लगाया, हर क्रिया की बराबर और विपरीत दिशा मैं,पर्तिक्रिया होती है |

कोई टिप्पणी नहीं: